Wildlife Sanctuary and National Park in Haryana

Haryana National Park and Wildlife Sanctuary in Hindi

नमस्कार! अभ्यर्थियों इस आर्टिकल में आज हम हरियाणा में स्थित (Wildlife Sanctuary and National Park in Haryana) प्रमुख वन्य जीव अभ्यारण और राष्ट्रीय उद्यान की एक सूची आपके साथ शेयर करने जा रहे हैं जो कि हरियाणा जीके के अंतर्गत परीक्षा में इससे संबंधित प्रश्न अक्सर पूछ रहे जाते हैं अतः आर्टिकल आपके लिए काफी हेल्पफुल होगा

हरियाणा राज्य के प्रमुख वन्य जीव अभ्यारण, प्रजनन केंद्र और राष्ट्रीय उद्यान

सुल्तानपुर राष्ट्रीय उद्यान (गुरुग्राम)

> राष्ट्रीय उद्यान हरियाणा के गुरुग्राम जिले के सुल्तानपुर में स्थित है

> यह प्रवासी पक्षियों के लिए काफी प्रसिद्ध है

> यह पहले एक पक्षी अभ्यारण था जिसे वर्ष 1989 में राष्ट्रीय पार्क बनाया गया

> यहां शीत ऋतु में सैकड़ों पक्षी प्रवास करते हैं जिसमें साइबेरियन सारस मुख्य रूप से उपस्थित रहे

> इस राष्ट्रीय उद्यान का कोई क्षेत्रफल 1.43 वर्ग किलोमीटर है

> यहां पर हरियाणा का सरल प्रमुख इको पार्क में स्थित है

 

कालेसर राष्ट्रीय उद्यान (यमुनानगर)

> यह राष्ट्रीय उद्यान हरियाणा के पूर्वी भाग के यमुनानगर में स्थित है

> यह उद्यान लाल जंगली मुर्गी के लिए प्रसिद्ध है

> दिसंबर 2003 में राष्ट्रीय पार्क घोषित किया गया था

> कालेसर वन्य जीव अभ्यारण यमुनानगर

> यह हरियाणा का सबसे बड़ा वन्य जीव अभ्यारण है

> यह 11570 एकड़ जमीन पर फैला हुआ है

> यहां पर सांभर, चीतल, भोकने वाले हिरण और नीलगाय पाए जाते हैं

> अभ्यारण पर्यटकों के आकर्षण का प्रमुख केंद्र है

 

हाथी पुनर्स्थापना एवं अनुसंधान केंद्र (यमुनानगर)

>हरियाणा के यमुनानगर जिले में बसंत और जंगल में खाती पुनर्स्थापना एवं अनुसंधान केंद्र की स्थापना की गई है

>चौधरी देवीलाल प्राकृतिक पार्क भी यहां पर स्थित है

 

बीर शिकारगढ़ वन्य जीव अभ्यारण (पंचकूला)

> इसी वर्ष 1975 में अभ्यारण बनाया गया यहां पर सांभर चीतल नीलगाय आदि निवास करते हैं

> गिद्ध संरक्षण एवं प्रजनन केंद्र पिंजोर, पंचकूला (2006)

> रेड जंगल फाउल प्रजनन केंद्र पिंजोर, पंचकूला

> फिसेट तीतर प्रजनन केंद्र मोर्नी, पंचकूला (1992 -93)

 

खोल- ही-रेतन वन्य जीव अभ्यारण (पंचकूला)

> यहां पर चीतल , जंगली, बिल्ली, सियार, जंगली बंदर पाए जाते हैं

> नेचुरल हिस्ट्री सोसाइटी की स्थापना पिंजोर, पंचकूला में की गई है

 

सिलसिला वन्य जीव अभ्यारण (कुरुक्षेत्र)

> यह वन्य जीव अभ्यारण हरियाणा के कुरुक्षेत्र में लगभग 29 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है

> यह अभ्यारण की तालीम पक्षियों को अपनी और आकर्षित करता है

> पर्यावरण की दृष्टि से यह एक संवेदनशील क्षेत्र है

> मगरमच्छ प्रजनन केंद्र और सौदान (1981-82)

> काला तीतर प्रजनन केंद्र पीपली ब्लैकबक प्रजनन केंद्र

> छोटा चिड़ियाघर, पीपली (1985-86)

 

सरस्वती वन्य जीव अभ्यारण कैथल

> सरस्वती वन्य जीव अभ्यारण को 29 जुलाई सन 1988 को स्थापित किया गया था

> यह मुख्य रूप से कैथल में स्थित है लेकिन इसका कुछ हिस्सा कुरुक्षेत्र जिले में भी फैला हुआ है

> इसी सुंदर जंगल के नाम से भी जाना जाता है

> यह हरियाणा के कैथल जिले में 4452.85 हेक्टेयर क्षेत्र में फैला हुआ है

 

नाहर वन्यजीव अभ्यारण (रेवाड़ी)

> यह वन्य जीव अभ्यारण हरियाणा के रेवाड़ी जिले में स्थित है

> यहां पर मुख्य रूप से सियार, लोमड़ी और काला हिरण पाए जाते हैं

>पर्यावरण की दृष्टि से इस अभ्यारण को जून 2009 में संवेदनशील क्षेत्र घोषित किया गया

> मयूर एवं चिंकारा प्रजनन केंद्र, झबुआ

 

भिंडावास वन्य जीव अभ्यारण (झज्जर)

> यह अभ्यारण हरियाणा के झज्जर जिले में स्थित है इसका क्षेत्रफल 10 74 एकड़ है

> यह अभ्यारण अपनी सुंदर झील के लिए प्रसिद्ध है

> यहां पक्षियों की लगभग 250 प्रकार की प्रजातियां भी पाई जाती हैं

> यह  भूरे हंस, बत्तख, लाल बुलबुल, किंगफिशर आदि के लिए काफी प्रसिद्ध है भारत सरकार ने से 3 जून 2009 को पक्षी अभ्यारण के रूप में स्थापित किया

 

अब्बुशहर वन्य जीव अभ्यारण (सिरसा)

> यह अभ्यारण 11530.5 हेक्टेयर में फैला हुआ है

> यहां पर मुख्य रूप से काला हिरण चीतल पाए जाते हैं

 

(जींद)

>वीरबारा वन्यजीव संरक्षण केंद्र (2007 )

 

रोहतक

> काला हिरण उद्यान और रोहतक चिड़ियाघर (1985-86)

 

भिवानी

> चिंकारा प्रजनन केंद्र केरु (1985-86)

> छोटा चिड़ियाघर (1982-83)

 

हिसार

>हिरण पार्क यह उद्यान धांसू मार्ग पर स्थित है इसकी स्थापना 1970 में की गई

 

महत्वपूर्ण तथ्य

  • गिद्धों पर अध्ययन करने वाला हरियाणा भारत का सबसे पहला राज्य है
  • कालेश्वर वन्य जीव अभ्यारण में भोंकने वाले हिरण निवास करते हैं
  • सुल्तानपुर राष्ट्रीय उद्यान 1971 में एक पक्षी अभ्यारण था जो कि बाद में 1989 में राष्ट्रीय पार्क बना दिया गया
  • भारत में 1250 पक्षियों की प्रजाति पाई जाती है जिसमें से 500 प्रजातियां के लिए हरियाणा में ही पाई जाती
  • हिसारफरीदाबाद में पर्यावरण न्यायालय की स्थापना भी की गई है

Related Article :-

1. Ancient Names of Cities of Haryana Click Here
2. List of Famous Stadium in Haryana Click Here
3. List of Famous Temple of Haryana in Hindi Click Here
4. Surnames of Famous People of Haryana in Hindi Click Here
Advertisement

Leave a Comment

error: Content is protected !!