Creativity Based MCQs for CTET 2021

सृजनात्मकता बाल विकास शिक्षा शास्त्र (CDP) के अंतर्गत पूछे जाने वाला एक बहुत ही महत्वपूर्ण टॉपिक है, जिसका अर्थ है कुछ नया कार्य करना, नए विचार लाना,नई वस्तुएं बनाना,नवीन अनुसंधान करना आदि। परीक्षा में इस टॉपिक एक से दो प्रश्न अवश्य पूछे जाते हैं,दोस्तों इस आर्टिकल में हम विभिन्न मनोवैज्ञानिकों द्वारा दी गई सृजनात्मकता (Creativity) की परिभाषाएं व इससे संबंधित वस्तुनिष्ठ प्रश्न (Creativity Based MCQs for CTET 2021) शेयर करने जा रहे हैं, जिन्हें आपको परीक्षा से पूर्व ध्यान पूर्वक पढ़ लेना चाहिए।

सृजनात्मकता शब्द अंग्रेजी की ‘क्रिएटिविटी’ शब्द से बना है जिसका अर्थ- सृजन, उत्पन्न करना या सृजित करना होता है, निर्माण करना, स्वयं की प्रेरणा तथा नवीन विचारों व प्रतिभाओं के साथ किसी नई वस्तु का सृजन करना है, सृजनात्मकता है।

सरल शब्दों में हम कह सकते हैं कि- “दूसरों की अपेक्षा कुछ अलग कार्य करना, नवीन कार्य करना ,विविध प्रकार की सोच रखना ही सृजनात्मकता कहलाता है।”

सृजनात्मकता की अन्य परिभाषाएं

जेंम्स ड्रेवर के अनुसार

“सृजनात्मकता मुख्यतः नवीन रचनाएं उत्पादन में अनिवार्य रूप से होती है।”

क्रो एंड क्रो के अनुसार

“सृजनात्मकता मौलिकता के परिणामों को अभिव्यक्त करने की एक मानसिक प्रक्रिया है।”

कोल एंड ब्रूस के अनुसार

“सृजनात्मकता एक मौलिक उत्पादन के रूप में मानव मन की ग्रहण करके अभिव्यक्त करने और गुणांकन करने की योग्यता एवं प्रक्रिया है।”

ड्रेवगहल के अनुसार

“सृजनात्मकता व्यक्ति की वे योग्यता है जिसके द्वारा वह उन वस्तुओं के विचारों का उत्पादन करता है जो अनिवार्य रूप से नए हो और जिन्हें वे पहले से ना जानता हो।”

स्कीनर के अनुसार

“सृजनात्मक चिंतन वह है जो नए क्षेत्र की खोज करता है नई परीक्षण करता है नई भविष्यवाणियां करता है और नए निष्कर्ष निकालता है।”

गिलफोर्ड के अनुसार

“सृजनात्मक बालकों में प्राया सामान्य गुण होते हैं उनमें न केवल मौलिकता का गुण होता है वरन उनमें में लचीलापन प्रवाहमयता प्रेरण एवं संयमता कि योग्यता भी पाई जाती है।”

बैरन के अनुसार

“सृजनात्मक बालक पहले से विद्यमान वस्तु एवं तत्वों को संयुक्त का नवीन रचना करता है।”

स्टैंन के अनुसार

“सृजनात्मकता वह कार्य है जिसका परिणाम नवीन हो और किसी समय किसी समूह द्वारा उपयोगी एवं संतोषजनक रूप से स्वीकार किया जाए।”

Questions Based on Creativity for CTET Exam

1.सृजनात्मकता संबंधित है

A)अपसारी चिंतन से।

B) अभिसारी चिंतन से।

C) कल्पनात्मक चिंतन से।

D) स्वली चिंतन से।

Ans- A)

2.टॉरेंस की सृजनात्मकता परीक्षण द्वारा किस तत्व का मापन नहीं होता है ?

A) तार्किकता

B) धारा प्रवाहित

C) मौलिकता

D) लचीलापन

Ans -A)

2.निम्नलिखित में से कौन सा सृजनात्मकता का तत्व नहीं है ?

A) लचीलापन

B) स्मृति करण

C) धारा प्रवाहिता

D) मौलिकता

Ans-B)

2.एक बच्चा अनुपयोगी प्लास्टिक थैलियों से कलात्मक वस्तु बनाता है, यह दर्शाता है ?

A) प्रतिभा

B) दार्शनिकता

C) सृजनशीलता

D) कुशलता

Ans- C)

2.सृजनशील बालकों का विशेष लक्षण है –

A)समस्याओं के प्रति सजग नहीं होगा ।

B) गतिशील चिंतन का अभाव ।

C) प्रबल जिज्ञासा ।

D) समायोजन के प्रति जागरूक नहीं होना ।

Ans- C)

2.सृजनशीलता के पोषण के लिए एक अध्यापक को निम्न में से किस विधि की सहायता लेनी चाहिए?

A) ब्रेनस्टॉर्मिंग

B) व्याख्यान विधि

C) दृश्य श्रव्य सामग्री

D) उपरोक्त सभी

Ans-A)

2.समस्या के अर्थ को जानने की योग्यता वातावरण के दोषों कमियां एवं रिक्तियों के प्रति सजगता विशेषता है ?

A) प्रतिभाशाली बालकों की ।

B) सामान्य बालक की ।

C) सृजनशील बालकों की ।

D) इनमें से कोई नहीं ।

Ans- C)

2.सृजनशीलता के पोषण हेतु एक अध्यापक को अपने विद्यार्थियों को रखना चाहिए-

A) कार्य केंद्रित

B) लक्ष्य केंद्रित

C) कार्य व लक्ष्य केंद्रित दोनों

D) पुरस्कार प्रेरित

Ans-A)

2.सृजनात्मकता की विशेषता है-

A) लचीलापन

B) मौलिकता

C) प्रवाहशीलता

D) उपरोक्त सभी

Ans-D)

2.वह चिंतन प्रक्रिया जो नवीन मौलिक तथा उपयोगी विचार के उत्पन्न होने में लिप्त हो कहलाती है ?

A) सृजनात्मकता

B) बुद्धि

C) नवाचार

D) समस्या समाधान

Ans-A)

12.क्योंकि समस्या के भावी परिणाम का विश्लेषण करने के लिए उत्साहित करके उन पर सृजनशीलता से संबंधित प्रभाव होता-

A) उनकी कल्पना शक्ति विकसित होगी ।

B) उनके निर्णय करने की क्षमता विकसित होगी ।

C) अपने जीवन में आगे कोई उन्नति करने के लिए दुखी होंगे ।

D) अपने स्वयं में सृजनशीलता से संबंधित अपने विचार व्यक्त करने से उनके लिए सहायक होंगे ।

Ans-D)

12.बच्चों में सृजनशीलता का मापन करने के लिए निम्न में से कौन सा एक परीक्षण नहीं है ?

A) किसी अधूरी आकृति या चित्र पर एक कहानी लिखना या पूरी करना ।

B) पहाड़ा लिखना ।

C) वस्तुओं को एक नए क्रम में व्यवस्थित करना ।

D) किसी वृत्त की दी हुई सीमाओं के अंतर्गत आकृति को पूरा करना ।

Ans- C)

Read Many More:-

Advertisement

Leave a Comment

error: Content is protected !!