EVS Pedagogy MCQ in Hindi REET 2021

EVS Pedagogy Questions and Answers pdf in Hindi

नमस्कार! दोस्तों इस आर्टिकल में हम (EVS Pedagogy MCQ in Hindi REET 2021) आपके साथ शेयर करने जा रहे हैं पर्यावरण शिक्षण शास्त्र के कुछ वस्तुनिष्ठ प्रश्न उत्तर जो कि आने वाली सभी टीचिंग एग्जाम्स जैसे REET और UPTET आदि के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है

EVS Pedagogy MCQ in Hindi

Q.1 प्राथमिक स्तर पर पर्यावरण अध्ययन में ‘समुदाय’ सीखने सिखाने का एक महत्वपूर्ण संसाधन है, क्योंकि –

(a) यह एक बहुत सस्ता संसाधन है |

(b) यह आसानी से उपलब्ध होने वाला संसाधन है | 

(c) इसमें समुदाय और बुजुर्ग व्यक्ति होते हैं | 

(d) यह वास्तविक स्थितियों में सीखने के अवसर उपलब्ध कराता है |

 

Q.2 शिक्षार्थियों का आकलन करते समय पर्यावरण अध्ययन की शिक्षिका को निम्नलिखित में से क्या नहीं करना चाहिए  –
(a) बच्चों के पूर्व आकलन के साथ तुलना करना |
(b) शिक्षार्थियों की सीखने की क्षमताओं को ध्यान में रखकर सूचना दर्ज करना |
(c) बच्चों के कार्य के केवल कुछ पक्षों पर ध्यान केंद्रित करना | 
(d) बच्चों के कार्य से सम्बंधित गुणात्मक उल्लेख करना |
Q.3 किसी क्रियाकलाप के लिए समूह बनाते हुए सामजिक अध्ययन के शिक्षक को चाहिए कि वह –
(a) सुनिश्चित करे की लड़के-लड़कियों के समूह अलग-अलग हों |
(b) अनुसार समूह बनाये |
(c) केवल दो समूह बनाए और प्रत्येक में बहुत से विद्यार्थी हों |
(d) सभी प्रतिभागियों को सहभागिता और सहयोग सुनिश्चित करे 
Q.4 एक नव-नियुक्त पर्यावरण अध्ययन के शिक्षक के रूप में पढ़ाने से पहले आपकी सबसे पहली प्राथमिकता होगी  –
(a) कक्षा में धीमी गति से सीखने वाले शिक्षार्थियों की पहचान करना |
(b) शिक्षार्थियों के लिए पाठानुसार विस्तृत नोट्स तैयार करना |
(c) शिक्षार्थियों का समाज-सांस्कृतिक प्रोफाइल/विवरण तैयार करना | 
(d) पहले से पाठ-योजना तैयार करना |
Q.5 प्राथमिक स्तर पर पर्यावरण अध्ययन की पाठ्य-पुस्तक में निम्नलिखित में से कौन सी विशेषता नहीं है –
(a) यह शिक्षार्थियों की वैविध्यपूर्ण पृष्ठभूमि की जरूरतों को पूरा करती है |
(b) यह वास्तविक कहानियों और घटनाओं को शामिल करती है |
(c) यह परिभाषाओं और अमूर्त अवधारणाओं की व्याख्या करने पर ध्यान केंद्रित करती है | 
(d) यह प्राकृतिक और समाज-सांस्कृतिक परिवेश को एकीकृत तरीके से प्रस्तुत करती है |
Q.6 प्राथमिक कक्षाओं में पर्यावरण अध्ययन पढ़ाने के लिए निम्नलिखित में से कौन सा उद्देश्य सम्बंधित नहीं है –
(a) विज्ञान के आधारभूत प्रत्ययों और सिद्धांतों को रटकर याद कर लेना 
(b) पर्यावरण को खोजने के अवसर प्रदान करना
(c) अवलोकन, मापन, भविष्यकथन और वर्गीकरण जैसे कौशलों का विकास करना
(d) भौतिक और सामजिक परिवेश के प्रति संवेदनशीलता प्रस्तुत करना
Q.7 राष्ट्रीय पाठ्यचर्या रूपरेखा (NCF) 2005 ने कक्षा 1 और 2 के लिए पर्यावरण अध्ययन के किसी पाठ्यक्रम या पाठ्य-पुस्तकों की संस्तुति नहीं की है | इसके लिए सबसे उपयुक्त कारण है –
(a) पाठ्यक्रम का भार कम करने के लिए
(b) पर्यावरण अध्ययन केवल कक्षा 3 से आगे की कक्षाओं के लिए है
(c) कक्षा 1 और 2 के शिक्षार्थी पढ़ना-लिखना नहीं जानते
(d) संदर्भयुक्त अधिगम परिवेश प्रदान करना 
Q.8 प्राथमिक स्तर पर पर्यावरण अध्ययन पढ़ाने के लिए निम्नलिखित में से कौन सा पहलू सबसे महत्वपूर्ण होना चाहिए  –
(a) क्रियाकलाप संचालित करना तथा कौशलों का विकास करना
(b) आकलन में सफलता प्राप्त करना
(c) विज्ञान की आधारभूत संकल्पनाओं (अवधारणाओं) को समझना
(d) सीखने वालों को प्राकृतिक और सामजिक-सांस्कृतिक पर्यावरण को जोड़ना

Q.9 भारत का सबसे पुराना एनजीओ आधारित संरक्षण अनुसंधान कौन है?

A. विज्ञान एवं पर्यावरण (सीएसई), केंद्र, नई दिल्ली

B. बॉम्बे नेचुरल हिस्ट्री सोसायटी (बीएनएचएस), मुंबई

C. पक्षीविज्ञान और प्राकृतिक इतिहास (SACON), कोयंबटूर सलीम अली केंद्र

D. भारतीय वनस्पति सर्वेक्षण (बीएसआई)

 

Q.10 भारतीय वनस्पति सर्वेक्षण (बीएसआई) का मुख्यालय कहां स्थित है?

A. मुंबई

B. पुणे

C. हैदराबाद

D. कोलकाता

Related Article :-

राजस्थान के प्रमुख पर्यटन स्थल Click Here
राजस्थान के प्रमुख  व्यक्तियों के उपनाम Click Here
History of Rajasthan Chauhan Vansh Important Questions Click Here
Advertisement

Leave a Comment

error: Content is protected !!