List of Important Missile in India with thire Range in Hindi

Major missiles of India and their firepower

नमस्कार !दोस्तों इस आर्टिकल में हम आपके साथ भारत की प्रमुख मिसाइलें उनकी मारक क्षमता (Range) एवं (List of Important Missile in India with thire Range in Hindi) उनकी  विशेषताएं शेयर कर रहे हैं। इस आर्टिकल भारत में मिसाइलों का निर्माण कौन करता है? उन्हें लॉन्च कहां से किया जाता है? और मिसाइलों से संबंधित संपूर्ण जानकारी इस आर्टिकल में आपको मिलेगी सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में इस टॉपिक से प्रश्न अवश्य ही पूछे जाते हैं इस दृष्टि से आपको भारत की प्रमुख मिसाइलों के बारे में जानकारी होना आवश्यक है ।तो आइए जानते हैं भारत की प्रमुख मिसाइलों के बारे में।

भारत में मिसाइल बनाने की जिम्मेदारी DRDO को दी गई है। डीआरडीओ द्वारा अब तक तैयार की गई मिसाइलों में कई मिसाइलें ऐसी भी हैं जिनकी टेक्नोलॉजी एवं उपकरण विदेशों से खरीदे गए हैं । डीआरडीओ द्वारा निर्मित मिसाइल है भारतीय थल सेना, वायु सेना और नौसेना को समर्पित की गई हैं।

भारत की प्रमुख मिसाइलें तथा उनकी मारक क्षमता (List of Important Missile)

 मिसाइल के प्रकार

  1.  क्रूज मिसाइल- यह मिसाइल एरोप्लेन की तरह होते हैं, वातावरण के निचली परत में उड़ते हैं इन्हें रडार नहीं पकड़ पाते जैसे– निर्भय
  2.  बैलेस्टिक मिसाइल– यह बहुत ऊंचाई पर उड़ते हैं तथा लक्ष्य तक पहुंचने में अपना अधिकांश भाग गिरा देते हैं अधिक विध्वनशक होते हैं जैसे- अग्नि सीरीज के सभी मिसाइल

 लॉन्च मोड के आधार पर

  •  सतह से सतह- जैसे अग्नि, पृथ्वी, प्रहार
  •  सतह से हवा- जैसे आकाश, त्रिशूल, बराक-8, एंटी बैलेस्टिक मिसाइल
  •  हवा से हवा- जैसे अस्त्र
  •  हवा से सतह- जैसे ब्रह्मोस
  •  एंटी टैंक- जैसे नाग, एलीना, अमोघा
  •  पनडु्बी प्रक्षेपित बैलेस्टिक मिसाइल- जैसे k -15  सागरिका

 मारक क्षमता के आधार पर

  •  लघु दूरी की मिसाइल ( 1000 किलोमीटर से कम)
  •  मध्य दूरी की मिसाइल( 1000 से 3000 किलोमीटर)
  • इंटरमीडिएट मिसाइल (महाद्वीपीय मिसाइल IBM) ( 3000 से 5500 किलोमीटर)
  •  इंटरकॉन्टिनेंटल मिसाइल ( अंतर महाद्वीपीय मिसाइल ICBM) (5500 किलोमीटर से अधिक)

(List of Important Missile in India with thire Range in Hindi)

महत्वपूर्ण तथ्य

  •   भारत के मिसाइल मैन- डॉक्टर अब्दुल कलाम आजाद
  •  भारत की मिसाइल वूमेन- टेसी थॉमस
  • मिसाइल कार्यक्रम भारत में “समेकित निर्देशित प्रक्षेपास्त्र विकास कार्यक्रम” (IGMDP) [इंटीग्रेटेड गाइडेड मिसाइल डेवलपमेंट प्रोग्राम] के तहत 1983 में इंदिरा गांधी के प्रयास से प्रारंभ हुआ था
  •  यह कार्यक्रम 1980 से 2008 तक चला
  •  इस कार्यक्रम के वास्तुकार डॉक्टर अब्दुल कलाम थे।
  •  भारत में मिसाइल का निर्माण डीआरडीओ द्वारा किया जाता है।

 इस प्रोग्राम के तहत निम्न मिसाइलें विकसित किए गए।

  1.  पृथ्वी
  2.  अग्नि
  3.  त्रिशूल
  4.  आकाश
  5.  नाग

 पृथ्वी 

  •  यह भारत का पहला मिसाइल है
  • मारक क्षमता-  सतह से सतह
  • प्रथम परीक्षण- 1988 में

पृथ्वी-1 

  • मारक क्षमता-150km
  •  प्रथम परीक्षण- 1994

 पृथ्वी-2

  •  मारक क्षमता- 250km
  •  प्रथम परीक्षण- 2003

 पृथ्वी-3

  •  मारक क्षमता- 350-750 km
  •  नौसेना रूप- धनुष

 अग्नि

  •  मारक क्षमता- (सतह से सतह)
  •  प्रथम परीक्षण- 1989 में

अग्नि-1 (700- 1250 km)

अग्नि-2 (2000- 3000 km)

अग्नि-3 (3500 – 5000 km) IMB

अग्नि-4 (3000- 4000 km) IBM

अग्नि-5 (5500 -5800 km) ICBM

अग्नि-6 (5000-10000 km) ICBM

त्रिशूल

  • मारक क्षमता- 500 मीटर से 9 किलोमीटर( जमीन से हवा)

 आकाश

  •  मारक क्षमता- 25 किलोमीटर ( सतह से हवा)
  •  यह एक बहु लक्ष्य प्रक्षेपास्त्र है इसकी तुलना अमेरिका के पैट्रियोट मिसाइल से की जाती है

 नाग

  •  मारक क्षमता- 4 किलोमीटर
  •  यह एक एंटी टैंक मिसाइल है( दागो और भूल जाओ)

 धनुष

  •  मारक क्षमता- 500 किलोमीटर
  •  यह पृथ्वी मिसाइल का नौसैनिक संस्करण है
  •  परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है

 अमोघ

  •  एंटी टैंक मिसाइल है (निर्माणाधीन अवस्था में)

 निर्भय

  •  मारक क्षमता-1000-1500 km
  •  सबसोनिक क्रूज मिसाइल है

 ब्रह्मोस 

  • मारक क्षमता- 300 से 500 किलोमीटर
  • यह एक सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल है
  • यह  रूस p -800 इस मिसाइल की तकनीक पर आधारित है
  •  इसका निर्माण रोज की एनपीओ मशीनोंस्ट्रोयेनिया तथा DRDO के संयुक्त रूप से विकसित किया गया है
  •  इसका नामकरण भारत की ब्रह्मपुत्र तथा  रूस की मास्को नदियों के नाम पर पड़ता है

 प्रहार

  •  मारक क्षमता- 150 किलोमीटर( सतह से सतह)

शौर्य

  • मारक क्षमता-  750-1200 km ( सतह से सतह)
  • यह k -15(सागरिका) का जमीनी प्रतिरूप है
  •  इसका प्रथम परीक्षण 2008 में हुआ था

 बराक-8 

  •  मारक क्षमता- 500 से 90 किलोमीटर (सतह से हवा)
  •  इसका विकास भारत तथा इजराइल में संयुक्त रूप से किया गया है
  •  इसे हेलीकॉप्टर, ड्रोन से भी दागा जा सकता है

k – सीरीज

  • यह सबमरीन से छोड़ी जाने वाली मिसाइल है
  • k-15 (सागरिका) 750 km ( परमाणु हथियार)
  • k-4  मार्क-1  3000km
  • k -4  मार्क-2 ( विकास के चरण में)

 हेलिना

  •  यह नाग मिसाइल का हेलीकॉप्टर वर्जन है यह एंटी टैंक मिसाइल है

 काली-500

  •  यह शक्तिशाली भीम अस्त्र है जिससे मिसाइल, वायुयानो को नष्ट किया जा सकता है

 पिनाका (मल्टी बैरल मिसाइल लॉन्चर)

  •  मारक क्षमता-( 5km – 40km)
  • 40 सेकंड में 12 रॉकेट छोड़ सकता है
Advertisement

Leave a Comment