Ras Hindi Grammar Class 10 pdf Download

Hindi Grammar Class 10 Ras Mcq Questions

नमस्कार! दोस्तों आज  इस आर्टिकल में हम जानेंगे हिंदी व्याकरण  (Ras Hindi Grammar Class 10 pdf Download) का एक महत्वपूर्ण टॉपिक जिसमें हमने शामिल किया है रस की परिभाषा अर्थ और प्रकार और इसके साथ रस संबंधित कुछ महत्वपूर्ण वस्तुनिष्ट प्रश्न आपके साथ साझा किए हैं जो कि कक्षा 9वी और 10वी,अन्य प्रतियोगि परीक्षा के दृष्टिकोण  से बहुत ही महत्वपूर्ण है

रस का अर्थ और परिभाषा

रस का शाब्दिक अर्थ है, आनंद  “काव्य को पढ़ने और सुनने से जिस आनंद की अनुभूति होती है उसे रस कहा जाता है”, रस को काव्य की आत्मा माना जाता है

काव्य को पढ़ने अथवा सुनने तथा दृश्य का के देखने और सुनने में जो अलौकिक आनंद प्राप्त होता है वही काव्य में रस कहलाता है रश्मि जिस भाव की अनुभूति होती है वह रस का स्थाई भाव होता है

भरतमुनि के अनुसार रस की परिभाषा-

रस उत्पत्ति को सबसे पहले परिभाषित करने का श्रेय भरत मुनि को जाता है उन्होंने अपने नाट्य शास्त्र में रास रस के 8 प्रकारों का वर्णन किया है रस की व्याख्या करते हुए भरत मुनि कहते हैं कि सब नाटक उपकरणों द्वारा प्रस्तुत एक भाग कलात्मक अनुभूति है रस का केंद्र रंगमंच है, भाव रस नहीं उसका आधार है किंतु भरत ने स्थाई भाव को ही रस माना है

आचार्य धनंजय के अनुसार रस की परिभाषा-

“विभाव अनुभाव सात्विक साहित्य भाव और व्यभिचारी भाव के सहयोग से आस्वाद विद्यमान स्थाई भाव ही रस है”

डॉक्टर विशंभर नाथ के अनुसार-

“भावों के छंद आत्मक समन्वय का नाम ही रस है”

आचार्य रामचंद्र शुक्ल के अनुसार-

“जिस भारतीय आत्मा की मुक्त अवस्था ज्ञान भाषा कहलाती है उसी भांति हृदय की मुक्त अवस्था रस दशा कहलाती है”

रस के चार अंग माने गए हैं –

  1. स्थायीभाव
  2. विभाव
  3. अनुभाव
  4. संचारीभाव

1.स्थायीभाव

s.no. रस  स्थायी भाव
1 श्रृंगार रति
2 हास्य हास
3 करुण शोक
4 रौद्र क्रोध
5 वीर उत्साह
6 भयानक भय
7 वीभत्स जुगुप्सा
8 अद्भुत विस्मय
9 शांत निर्वेद
10 वात्सल्य वत्सलता
11 भक्ति रस अनुराग

2) विभाव 

वे कारण, विषय और वस्तुएँ, जिसके कारण भाव जागती  हैं और उन्हें विभाव कहते हैं।

1.आलंबन विभाव

जिसका सहारा पाकर स्थायी भाव जगते हैं, आलंबन विभाव कहलाता है। 

आलंबन विभाव के दो भेद होते हैं

(क) आश्रय आलंबन – जिस व्यक्ति के मन में भावों की उत्पत्ति होती है, उसे आश्रय कहते हैं।

(ख) विषय आलंबन – जिस चीज के लिए मन में भावों की उत्पत्ति होती है, उसे विषय कहते हैं।

2.उद्दीपन विभाव

जिन वस्तुओं या परिस्थितियों को देखकर स्थायी भाव उद्दीप्त होने लगता है उद्दीपन विभाव कहलाता है। जैसे- चाँदनी, कोकिल कूजन, एकांत स्थल, रमणीक उद्यान आदि।

3) अनुभाव

वे गुण और क्रियाएँ जिनसे रस का बोध हो। 

जैसे-चुटकुला सुनकर हँस पड़ना, तालियाँ बजाना

4) संचारी या व्यभिचारी भाव

ये भाव पानी के बुलबुलों के सामान उठते और विलीन हो जाने वाले भाव होते हैं।

इनकी कुल संख्या 33 है।

 

रस से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तरी

Q.1 प्रिय पति वह मेरा प्राण प्यारा कहाँ है, दुःख-जलनिधि-डूबी सहारा कहाँ है ? इन पंक्तियों में कौन सा स्थायी भाव है

A) विस्मय

B) रति

C) शोक

D) क्रोध

 

Q.2 भाव जिसके हदय में रहते है’ उसे कहते है ?

A) आश्रय

B) आलंबन

C) उद्दीपन

D) आलंबन जन्य उद्दीपन

 

Q.3 हाँ रघुनंदन प्रेम परीते | तुम विन जिअत बहुत दिन बीते ||

A) वीर रस​

B) संयोग रस

C) शांत रस

D) करुण रस

 

Q.4 पायो जी म्हें तो राम- रतन धन पायो |

 वस्तु अमोलक दी मेरे सतगुरु, करि किरपा​ अपणायो |

A) वात्सल्य रस

B) शांत रस

C) भक्ति रस

D) अद्भुत रस

 

Q.5 देखी यशोदा शिशु के मुख में सकल विश्व की माया |

क्षण भर को वह बनी अचेतन हित न सकी कोमल काया ||

A) वात्सल्य रस

B) शांत रस

C) भक्ति रस

D) अद्भुत रस

 

Q.6 जब मै था तब हरि नाहिं अब हरि है मै नाहिं|

सब अँधियारा मिट गया जब दीपक देख्या माहिं||

A) शांत रस

B) वात्सल्य रस

C) भक्ति रस

D) अद्भुत रस

(Ras Hindi Grammar Class 10 pdf Download)

Q.7 बुरे समय को देख कर गंजे तू क्यों रोय। 

किसी भी हालत में तेरा बाल न बाँका होय||

A) वीर रस​

B) संयोग रस

C) शांत रस

D) हास्य

 

 Q.8 रे नृप बालक काल बस बोलत तेहि न संभार |

धनु ही सम त्रिपुरारि |धनु विदित सकल संसार ||

A) वियोग रस

B) रौद्र रस

C) संयोग रस

D) करुण रस

 

Q.9 ‘रति’ स्थायीभाव किस रस का है?

A) हास्य रस का

B) शांत रस का

C) श्रृंगार

D) वीर

 

 Q.10 हाय राम कैसे झेलें हम अपनी लज्जा अपना शोक। गया हमारे ही हाथों से अपना राष्ट्रपिता परलोक। पंक्ति में कौन-सा रस प्रयुक्त हुआ है?

A) श्रृंगार रस

B) वियोग रस

C) करुण रस

D) अद्भुत रस

Can Read Also:-

Objective Questions of Samas in Hindi  Click Here
Hindi Grammar Practice Set pdf Class 10th Click Here
Advertisement

Leave a Comment

error: Content is protected !!