Rajasthan Famous Lakes in Hindi (राजस्थान की प्रमुख झीलें)

राजस्थान की प्रमुख झीलें ( Famous Lakes of Rajasthan)

नमस्कार! दोस्तों studysafar  में आप सभी का स्वागत है । इस पोस्ट में हम राजस्थान GK का एक महत्वपूर्ण टॉपिक (Rajasthan Famous Lakes in Hindi) राजस्थान की प्रमुख झीलें आपके लिए लेकर आए हैं जिसमें हमने राजस्थान की लगभग सभी जिलों की विस्तृत जानकारी आपके साथ शेयर की है इससे संबंधित प्रश्न राजस्थान के आगामी परीक्षाएं जैसे राजस्थान पुलिस राजस्थान टीटी रेट पूछे जाते हैं इन परीक्षाओं की दृष्टि से यह आर्टिकल आपके लिए बहुत ही उपयोगी सिद्ध होगा। 

 भारत के उत्तर पश्चिम में स्थित राजस्थान को उत्कृष्ट रूप से राजकुमार और राजा महाराजाओं की भूमि के लिए जाना जाता है । राजस्थान की राजधानी जयपुर पिंक सिटि के नाम से विख्यात है।  भारत के राष्ट्र गौरव में से एक होने के नाते यह स्थान कई राजपूत महाराजाओं का घर है। 

राजस्थान देश का सबसे बड़ा राज्य है।राजस्थान के पड़ोसी राज्य मध्य प्रदेश ,गुजरात ,हरियाणा ,उत्तर प्रदेश ,दिल्ली, पंजाब है।  राजस्थान में पर्यटक आकर्षण के लिए अनेकों चीजें उपलब्ध है।  1219 मीटर में फैला समृद्धि जंगल के बीच स्थित राजस्थान (Rajasthan Famous Lakes in Hindi) का एकमात्र हिल स्टेशन माउंट आबू है  यह राजस्थान की पौराणिक सुंदरता को दर्शाता है अरावली पर्वत श्रंखला के साथ-साथ  विस्तृत रूप से फैले हरे भरे जंगलों और जिलों के निर्माण के साथ भारत में यह पर्यटक के लिए काफी प्रसिद्ध स्थल है।  दिलवाड़ा का जैन मंदिर जो विभिन्न वनस्पति और प्राणी समूह के बीच बना है।  एक बार आपको इसका भ्रमण जरूर करना चाहिए। 

राजस्थान की झीलें (Rajasthan Famous Lakes)

  1.  खारे पानी की झीले– खारे पानी की झीले सागर का अवशेष है यह जिले राजस्थान में सर्वाधिक नागौर में है। 
  2.  मीठे पानी की झीले– इन्हें ताजी पानी की झीले भी कहा जाता है यह वर्षा जल द्वारा निर्मित होती हैं मीठे पानी की झीले सर्वाधिक उदयपुर में स्थित है। 

खारे पानी की झीले

  1. सांभर( जयपुर)
  2. पचपदरा (बाड़मेर)
  3. डीडवाना( नागौर)
  4.  नावा( नागौर)
  5.  डेगाना( नागौर)
  6. कुचामन( नागौर)
  7.  लूणकरण सागर( बीकानेर)
  8.  कावोद (जैसलमेर)
  9.  फलोदी( जोधपुर)
  10.  रेवासा (सीकर)
  11. काछोर(सीकर)
  12. ताल छापर(चुरू)

 सांभर झील (जयपुर)

 निर्माता- वासुदेव चौहान(बिजोलिया शिलालेख के अनुसार)

क्यार सांभर से प्राप्त नमक को कहा जाता है

  •  भारत का कुल आठ प्रतिशत नमक सांभर झील से प्राप्त होता है तथा राजस्थान का 80% से अधिक नमक इसी झील से प्राप्त किया जाता है 
  • यह झील देश की तीसरी सबसे बड़ी खारे पानी की झील है, जबकि नमक प्राप्त करने में देश में प्रथम स्थान पर है
  •  सांभर से नमक प्राप्त करने वाली कंपनी सांभर साल्ट लिमिटेड(1964) जो हिंदुस्तान साल्ट लिमिटेड के अधीन है
  • सन 1990 में सांभर झील को रामसर साइट घोषित किया गया
  •  रामसर साइट- वेटलैंड/ आद्र भूमि/ नम भूमि जहां पक्षियों एवं  जीवो का संरक्षण किया जाता है
  •  राज्य में दो रामसर साइट हैं-
  1.  घना पक्षी विहार (भरतपुर)- साइबेरियन सारस
  2.  सांभर (जयपुर)- पक्षी राजहंस एवं कुरजा पक्षी

  पचपदरा झील( बाड़मेर)

  •  इस दिल का नमक सर्वाधिक खारा होता है क्योंकि इसमें सोडियम क्लोराइड (nacl) की मात्रा 98% होती है
  • इस कारण इसे सर्वश्रेष्ठ नमक कहा जाता है
  •  खारवाल- नमक प्राप्त करने वाली जाति
  •  मुरली झाड़ी की टहनियों का उपयोग करके नमक के  स्फटिक बनाने का कार्य किया करते हैं
  •  कोशिया- पचपदरा में नमक बनाने वाले कुएं

 डीडवाना (नागौर)

  •  इस दिल का नमक सबसे घटिया किस्म का है क्योंकि इसमें सोडियम क्लोराइड के स्थान पर सोडियम सल्फेट पाया जाता है
  •  इसलिए इसे कांच उद्योग वापेपर उद्योग में काम में लिया जाता है
  •  यहां राजस्थान स्टेट केमिकल वर्क्स रासायनिक कारखाना स्थित है

(Rajasthan Famous Lakes in Hindi)

 मीठे पानी की झीले

 जयसमंद झील (उदयपुर) 

निर्माता महाराणा जय सिंह

 निर्माण काल 1665 से 1691

 नदी गोमती

  •  जयसमंद झील पर 7  टापू स्थित है
  •  बड़ा  टापू- बाबा का भाखड़ा
  •   छोटा टापू- प्यारी कहलाता है
  •  इन टापू पर रहने वाली जनजाति भील मीणा है
  •  जयसमंद झील राजस्थान की मानव निर्मित सबसे बड़ी झील है
  •  ताजमहल बा रूठी रानी का महल इस झील के किनारे चित्रित है 
  •  इसे जलचर की बस्ती कहा जाता है क्योंकि यहां जली जी की संख्या सर्वाधिक है
  •  श्यामपुरा- भाट नेहरे( सिंचाई के लिए जयसमंद झील से निकाली गई हैं)

 नक्की झील (माउंट आबू)

 निर्माण- लोक कहावतों के अनुसार देवताओं के नाखूनों द्वारा

  •  यह एक क्रेटर झील है( ज्वालामुखी झील)
  • राजस्थान की सबसे ऊंची झील( 1200  मीटर)
  •  राजस्थान की जमने वाली एकमात्र झील
  •  यह राजस्थान की सबसे गहरी झील (35 मीटर)
  •  इसके पास पाई जाने वाली चट्टाने-
  •  टॉड रॉक- मेंढक जैसी चट्टान। 
  •  नदी रॉक- शिव के बैल जैसी चट्टान। 
  •  नन रॉक- घुंघट और दुल्हन जैसी चट्टान। 
  •  यहां सनसेट पॉइंट प्रसिद्ध है। 
  •  यह एक अच्छा हिल स्टेशन है। 
  •  गरासिया जनजाति अस्थियों का विसर्जन इसी झील में करती है। 

 राजसमंद झील (राजसमंद)

 निर्माता- राज सिंह

 निर्माण काल 1662

 नदी- गोमती

  •  इसे देश की प्रथम अकाल राहत झील माना जाता है
  •  इस डील के निर्माण में सर्वाधिक लोगों का (लगभग 60,000) योगदान है
  •  नौ चौकी पाल( सीढ़ियां)राजसमंद झील में है
  •  द्वारिकाधीश मंदिर और जीवन माता की छतरी इसी झील के किनारे निर्मित है
  •  हाल ही में इस झील के किनारे सूर्य घड़ी के अवशेष मिले हैं

 पिछोला झील (उदयपुर)

 निर्माण 1388

 निर्माता- बंजारा( राणा लाखा के समय)

 नदी – सिसारमा, बूझडा

 पिछोला में प्रसिद्ध निर्माण

  1.  जग मंदिर- जगत की प्रथम
  2.  जग निवास- जगत सिंह द्वितीय
  3.  नटनी का चबूतरा( राणा लाखा)
  •  शाहजहां ने अपने विद्रोह काल में इसी झील पर शरण ली थी 
  •  जगमंदिर से प्रेरित होकर शाहजहां ने ताजमहल का निर्माण करवाया था
  •  स्वरूप सागर नहर- यह पिछोला और फतेह सागर को जोड़ती है
  •  पिछोला का अतिरिक्त पानी फतेह सागर में जाता है
  •  सौर ऊर्जा द्वारा संचालित प्रथम नाव  इसी झील में चलाई गई

 फतेहसागर( उदयपुर)

  •  नेहरू उद्यान
  •  सौर ऊर्जा वैद्य साला- इस दिल के पास गुजरात के सहयोग से बनाई गई है
  •  टेलर- इस झील के पास बेल्जियम के सहयोग से बनाया गया है

 उदय सागर (उदयपुर)

 निर्माता उदय सिंह

 निर्माण काल– 1559 में

 नदी- आयन नदी( यह नदी उदय सागर में गिरने के बाद बिचड़ कहलाती है)

 आनासागर झील( अजमेर)

 निर्माण- 1136-37  ईसवी

 निर्माता  अर्णव राज्य

 नदी- बांडी

 प्रसिद्ध-

  1. दौलताबाद या सुभाष उद्यान (जहांगीर द्वारा निर्मित)
  2.  बारहदरी( शाहजहां द्वारा निर्मित)

 पुष्कर झील (अजमेर)

  •  उपनाम- क्रेटर झील/ ज्वालामुखी झील/ पांचवा तीर्थ/ तीर्थों का तीर्थ/ तीर्थराज/ 52 घाटा जील/ अर्धचंद्राकार झील/ तीर्थो का मामा
  •  पुष्कर झील राजस्थान की सबसे बड़ी प्राकृतिक झील है
  •  राजस्थान की सबसे प्रदूषित झील भी यही है
  •  राजस्थान की पुष्कर झील में सफाई कार्य कनाडा के सहयोग से चलाया जा रहा है
  •  गांधीजी तथा बाल ठाकरे की अस्थियां का विसर्जन इसी झील में किया गया
  •  कार्तिक पूर्णिमा को पुष्कर झील के किनारे मेले का आयोजन किया जाता है राजस्थान का रंगीला मेला कहा जाता है

 फायसागर (अजमेर)

  •  निर्माण– 1891 -92 
  •  अकाल राहत के लिए बनाई गई राजस्थान की दूसरी झील है( पहली-  राजसमंद है)

कोलायत जिला (बीकानेर)

  •  प्रसिद्ध- कपिल मुनि का आश्रम इसी झील के किनारे स्थित है
  •  कार्तिक पूर्णिमा को पुष्कर और कोलायत में दीप दान की परंपरा है
  •  चारण जाति इस झील के दर्शन करने नहीं जाती

 गजनेर (बीकानेर)

  •  प्रसिद्ध- गजनेर झील को पानी का शुद्ध दर्पण भी कहा जाता है क्योंकि इस झील का पानी बहुत ही स्वच्छ है

 कायलाना झील (जोधपुर)

  •  राजस्थान की एकमात्र झील जिसमें इंदिरा गांधी नहर से पानी डाला जाता है( राजीव गांधी लिफ्ट नहर के माध्यम से)

 तालाब शाही झील (धौलपुर)

  •  जहांगीर के काल में निर्मित

 सिलीसेढ़ झील (अलवर)

  •  इस डील के बीच में विनय विलास महल बना हुआ है जो वर्तमान में (RTDC)  होटल के नाम से संचालित है

 कनक सागर- बूंदी

 एडवर्ड सागर झील- डूंगरपुर

 अमर सागर- जैसलमेर

 ग्ड्सि सागर झील- जैसलमेर

 मानसरोवर झील- सवाई माधोपुर

 कांडला झील- झालावाड़

 पन्ना शाह तलाब- झुंझुनू (खेतड़ी)

 नंद सम्मत- राजसमंद

 बालसमंद- जोधपुर 

 दोस्तों इस आर्टिकल में हमने आपके साथ राजस्थान की प्रसिद्ध झीलों (Rajasthan Famous Lakes in Hindi) की एक विस्तृत जानकारी सांझा की है आशा है। जिससे आपको परीक्षा में आने वाले से संबंधित प्रश्नों को हल करने में काफी मदद मिलेगी ऐसी नवीनतम जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट Study safar.com पर विजिट करते रहें।

Advertisement

Leave a Comment