राजस्थान GK : राजस्थान के प्रमुख खनिज संसाधन

राजस्थान के प्रमुख खनिज संपदा

राजस्थान में खनिज के अमूल भंडार है खनिज (राजस्थान GK: राजस्थान के प्रमुख खनिज संसाधन) की दृष्टि से यह राज्य संपन्न हैं । इसीलिए इसे खनिजों का अजायबघर भी कहा जाता है।  देश की कुल खनिज संपदा में राजस्थान का योगदान 22% है । खनिज उत्पादन की दृष्टि से झारखंड मध्य प्रदेश के बाद राजस्थान का तीसरा स्थान है।  और खनिज भंडारों की दृष्टि से झारखंड के बाद राजस्थान दूसरे स्थान पर आता है । राजस्थान में सर्वाधिक उपलब्ध खनिज रॉक फास्फेट है राजस्थान मैं लगभग 67 खनिजों का खनन होता है

राजस्थान के मकराना का संगमरमर विश्व विख्यात है जिसका प्रयोग ताजमहल (आगरा) विक्टोरिया मेमोरियल(कोलकाता) के निर्माण में हुआ है राजस्थान में हिरा केसरपुरा (प्रतापगढ़) है स्थान में भारत का सर्वाधिक शीशा जस्ता मिलता है राजस्थान में काला मार्बल जयपुर भैसलाना में मिलता है।  टमारा उत्पादन में राजस्थान का एकाधिकार है। (राजस्थान GK: राजस्थान के प्रमुख खनिज संसाधन) राजस्थान में प्रथम मार्बल नीति की घोषणा अक्टूबर 1994 में की गई थी। तथा प्रथम ग्रेनाइट नीति 1991 में घोषित की गई थी राजस्थान का नवीनतम मार्बल नीति व ग्रेनाइट नीति की घोषणा 8 जनवरी 2002 को की गई राजस्थान के खनिज विभाग ने 15 अगस्त 1999 को भी जन 2020 घोषित किया राजस्थान राज्य खान एवं खनिज लिमिटेड की स्थापना 2003 में की गई राजस्थान में नई खनन नीति को प्रदेश मंत्रिमंडल ने 28 जनवरी 2011 को अनुमोदित कर दिया। 

इनमें से कुछ खनिजों की सूची इस प्रकार है-

Major Mineral Estates of Rajasthan (प्रमुख खनिज संसाधन)

क्रमांक   खनिज     जिला क्षेत्र

1. तांबा –  चित्तोडगड अकोला, दरीबा, बाडी

2.सोना –  बासवाड़ा    संजयला, डगोचा, भुकिया, जगतपुरा

3. पीला ग्रॅनाईट- जैसलमेर पिथला

4. तेल व प्राकृतिक गॅस- जेसलमेर शाहगड,लंग तला, खारा ताल, घोटारु

5. सीसा-जस्ता, तांबा-  भीलवाडा देदवास, देवपूर 

6. युरेनियम- भीलवाडा जहाजपुर

7. युरेनियम- सीकर  रोहिला

8. थांबा- सीकर    बानीवाला की ढाणी

9. लिग्नाइट -नागौर  माता सुख, कसनाऊ

10. सोना -उदयपुर  ड्गोचा 

11. सोना तांबा- दोसा  ढाणी, बासडी

12. सीसा  जस्ता -अजमेर  कायड 

13.   लिगनाईट,  भुरा कोयला- बाड़मेर  कपूरडी, झालीपा,गिरल

Advertisement

Leave a Comment

error: Content is protected !!