CTET CDP MCQ: परीक्षा में बेहतर स्कोर करने के लिए ‘बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र’ के इन प्रश्नों को जरूर पढ़ें!

CTET CDP Practice Questions: केंद्रीय विद्यालय में नौकरी करने का सपना देख रहे देश के लाखों युवा उम्मीदवार के लिए सीटेट परीक्षा एक सुनहरा अवसर है। सीबीएसई के द्वारा आयोजित की जाने वाली इस शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाता है। इस वर्ष जुलाई से अगस्त माह के बीच में इस परीक्षा का आयोजन किया जाना है। बता दें कि इस परीक्षा में क्वालीफाई अभ्यर्थी देश के विभिन्न राज्य में संचालित केंद्रीय विद्यालय नवोदय विद्यालय एवं आर्मी पब्लिक स्कूल में होने वाली शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया में आवेदन करने के पात्र होते हैं। अगर आप भी इस परीक्षा में सम्मिलित होने जा रहे हैं। तो यहां पर हम आपके लिए परीक्षा में पूछे जाने वाले सबसे महत्वपूर्ण टॉपिक बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र से संबंधित प्रैक्टिस सेट लेकर आए हैं, जिसके माध्यम से आप अपनी तैयारी को और अधिक बेहतर बना सकते हैं।

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण है बाल विकास के यह प्रश्न—Child Development and Pedagogy objective Questions

1. स्कूल में सफलता के पैमाने को विशिष्ट अकादमिक उपलब्धि तक सीमित न रखकर व्यापक होना चाहिए। ऐसा किस प्रकार किया जा सकता है ?

(a) अनुशिक्षण संस्थाओं द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त करके । 

(b) सामाजिक-संवेगिक क्षमताओं का विकास करके जो शिक्षा का एक अहम अंग है।

(c) घर पर की जाने वाली अतिरिक्त कक्षाओं के द्वारा। 

(d) सिर्फ उन क्षेत्रों पर ध्यान केन्द्रित करके जिस में बच्ची ‘कमजोर’ है।

Ans- b 

2. निम्न में से किस से एक विद्यार्थी की संरचनात्मक समझ एवं स्पष्टता की पुष्टि होती है ?

(a) दी गई जानकारी को सही रूप में दोहराना । 

(b) सही जानकारी लिखना ।

(c) संरचना की परिभाषा को स्पष्ट रूप से याद रखना । 

(d) सीखी गई संरचनाओं को निजी जीवन में आने वाली स्थितियों में लागू करना।

Ans- d 

3. बच्चों को प्रभावशाली समस्या समाधानकर्ता बनाने लिए जरूरी है कि उन्हें निम्न में से किस प्रकार के मोके मुहैया करवाए जाएं ?

(a) केवल पाठ्यपुस्तक में दिए गए प्रारूप के अनुसार प्रयोग करने को कहकर ।

(b) स्वतंत्र सोच द्वारा संप्रत्यय की खोज करके । 

(c) जब आवश्यक हो तब अतिरिक्त ट्यूशन लेकर

(d) केवल दृश्य-श्रव्य सामग्री एवं स्मार्ट बोर्ड द्वारा सीखना ।

Ans- b 

4. अधिगम की प्रक्रिया के दौरान बच्चे जो त्रुटियां करते हैं –

(a) उनसे बच्चों की वर्तमान क्षमता एवं बुद्धिमत्ता का पता लगाया जा सकता है।

(b) उन्हें बिना प्रतिपुष्टि के तुरंत सुधार देना चाहिए ताकि वे दोहराई जाएं।

(c) उन्हें संज्ञानात्मक प्रक्रिया का सहज एवं स्वीकृत हिस्सा समझना चाहिए। 

(d) वह अधिगम प्रक्रिया से ध्यान हटाते हैं इसीलिए उन्हें तुरंत कम करने की कोशिश करनी चाहिए।

Ans- c 

5. बच्चों के संवेगों की अधिगम में क्या भूमिका है ?

(a) संवेग बच्चों को सीखने में बाधित करते हैं इसलिए इनको काबू में रखना चाहिए।

(b) प्रभावशाली अधिगम के लिए संज्ञान को बच्चों के संवेगों से पृथक रखना चाहिए। 

(c) संवेग सीखने की प्रक्रिया को अर्थपूर्ण बनाने तथा उन्हें सीखने की प्रक्रिया में एकीकृज रूप में सम्मलित करना चाहिए 

(d) संवेग सीखने की प्रक्रिया में गड़बड़ी करते हैं वह इसे अपूर्वानुमय बनाते हैं।

Ans- c 

6. बच्चों को आंतरिक रूप से अभिप्रेरित अधिगमकर्ता बनने के लिए किस तरह प्रोत्साहित किया जा सकता है?

(a) हौसला बढ़ाने के लिए इनाम देकर। 

(b) त्रुटियां करने पर दण्ड देकर

(c) अधिगम प्रक्रिया के दौरान की गई त्रुटियों से सीखकर, बिना किसी नकारात्मक दंड के डर बिना।

(d) शिक्षिका द्वारा कक्षा में खास उपलब्धि वाले विद्यार्थियों पर खास ध्यान देकर।

Ans- c 

7. ‘निपुणता अनमुखी विद्यार्थियों में कौन से गुण होते हैं ? 

(a) असफलता का न्यून भय; क्षमता का वार्धिक दृष्टिकोण

(b) असफलता का अत्यधिक भय; क्षमता का अटल दृष्टिकोण 

(c) असफलता का न्यून भय; क्षमता का अटल दृष्टिकोण

(d) असफलता का अत्यधिक भय; क्षमता का वार्षिक दृष्टिकोण

Ans- a 

8. निम्न में से कौन-सी प्रक्रिया प्रभावशाली समस्या समाधान में बाधक है ?

(a) सही स्कीमा को क्रियाशील करना 

(b) प्रतिक्रया अनमस्ता 

(c) सही समस्या को पहचानना 

(d) अन्वेषणात्मक रणनीतियों या समस्या समाधान की सामान्य रणनीतियों का प्रयोग

Ans- b 

9. कक्षा में विद्यार्थियों में पारस्परिक प्रतिष्पद्दा के लिए प्रेरित करने के कई परिणाम हो  कसके है। आप के अनुसार निम्न में से प्रभाव बच्चों के विकास से हानिकार है ? 

i. इस से कक्षा में ‘विजेता’ एवं ‘हारे हुए विद्यार्थियों में विभेदीकरण होता है।

ii. इस से विद्यार्थियों पर दबाव पड़ता है व चिंता का स्तर बढ़ जाता है जो उनके संज्ञानात्मक विकास को बाधित करता है।

iii. इस से कक्षा में ‘तारक’ विद्यार्थियों को चिन्हित करने के लिए बढ़ावा मिलता है जिनकी उपलब्धियों पर स्कूल गर्व कर सकता है। 

iv. इससे विद्यार्थियों को प्रतिस्पार्द्धिक, बाजार केन्द्रित अर्थ व्यवस्था में ढलने के लिए तैयार किया जाता है।

(a) i, ii

(b) i, ii, iv

(c) i, ii, iii, iv 

(d) ii, iii, iv

Ans- c 

10. अर्थपूर्ण सीखने की प्रक्रिया किस से सुसाध्य होती है ? 

(a) विद्यार्थी के निजी दर्शनशास्त्र एवं दृष्टिकोण से

(b) विद्यार्थियों द्वारा शिक्षिका से ‘प्राप्त’ ज्ञान द्वारा ।

(c) संकलित आकलन के लिए की गई पाठ्यचर्या की मांग से।

(d) केवल विशेषज्ञों की राय /दृष्टिकोण के आधार पर।

Ans- a 

11. एक अध्यापिका किसी एक विषय को पढ़ाने के बाद विद्यार्थियों को संकल्पनात्मक मानचित्र बनाने के लिए कहती है। यह किस में सहायक होगा?

(i) संरचनात्मक मूल्यांकन संचालित करने के लिए

(ii) विद्यार्थियों के मुख्य बिन्दुओं का सार लिखने की क्षमता का परीक्षण करना ।

(iii) विद्यार्थियों की उपलब्धि का मूल्यांकन हेतु रूबरिकों का विकास करना।

(iv) विद्यार्थियों की कलात्मक योग्यता का परीक्षण करने के लिए।

(a) (i), (ii) and (iii)

(b) (i) and (iv) 

(c) (ii), (iii) and (iv)

(d) (ii) and (iv)

Ans- a 

12. प्राथमिक कक्षाओं के विद्यार्थी किस प्रकार के वातावरण में सबसे प्रभावी रूप से सीखते हैं? 

(a) जहां शिक्षिका एकाधिकारवादी है और अमेशा आदेश देती है कि क्या किया जाना चाहिए। 

(b) जहां शिक्षिका अधिगम को निर्देशित करती है तथा विद्यार्थियों से निष्क्रिय होने की अपेक्षा करती है |

(c) जहां मूल रूप से पठन कौशलों और अंक प्राप्त करने पर जोर दिया जाता है।

(d) जहां विद्यार्थियों की सामाजिक संवेगात्मक आवश्यकताओं की पूर्ति होती है/को ध्यान में रखा जाता है।

Ans- d 

13.  निम्नलिखित में से कौन-सी शैली एक प्रभावशाली विद्यालय में प्रयोग में लाई जानी चाहिए? 

(a) ईनाम व सजा का प्रयोग

(b) प्रतिस्पर्धात्मक कक्षा

(c) तुलनात्मक मूल्यांकन 

(d) सहयोगात्मक अधिगम

Ans- d 

14. आंतरिक / स्वतः स्फूर्त प्रेरणा का उदाहरण कौन-सा है? 

(a) एक विद्यार्थी अच्छे ग्रेड लाने के लिए प्रयोग कर रही है।

(b) एक विद्यार्थी इसलिए प्रयोग कर रही है क्योंकि उसे प्रयोग का परिणाम जानने की उत्सुक्ता है। 

(c) एक विद्यार्थी इसलिए प्रयोग कर रही है क्योंकि उसे थ्योरी की कक्षा पसंद नहीं है। 

(d) एक विद्यार्थी इसलिए प्रयोग कर रही है क्योंकि वह अपने अध्यापक को प्रभावित करना चाहती है।

Ans- b 

15. कौन-सी स्थिति संरचनावादी शिक्षा शास्त्र विधि को दर्शाती है –

(a) विद्यार्थी अध्यापक के व्याख्यान को सुन रहे हैं और पढ़ाई गई विषय वस्तु पर नोट्स बना रहे हैं।

(b) विद्यार्थी उच्च स्वर में दिए गए अंश को याद कर रहे हैं। 

(c) विद्यार्थी पाठ्य पुस्तक से सामग्री को याद कर वर्ष के अंत में परीक्षा देते हैं

(d) अध्यापक अपने विद्यार्थियों को समकालीन मुद्दों पर चर्चा और वाद-विवाद करने के लिए कहता / कहती हैं ।

Ans- d 

Read Also:-

CTET 2023: लेव वायगोत्स्की के सिद्धांत से जुड़े ऐसे ही सवाल, केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा में हमेशा पूछे जाते हैं, अभी पढ़े

CTET July 2023 Hindi Pedagogy: ‘हिंदी पेडगॉजी’ की ऐसे प्रश्न जो TET परीक्षा में ज़रूर पूछे जाते है

परीक्षा से जुड़ी सभी नवीनतम अपडेट तथा Notes प्राप्त करने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल के सदस्य जरूर बने जॉइन लिंक नीचे दी गई है.