REET 2022: ‘निदानात्मक एवं उपचारात्मक’ शिक्षण पर आधारित ऐसे प्रश्न जो कि राजस्थान रीट में पूछे जा सकते हैं, अभी पढ़े

Diagnostic and Remedial Teaching MCQ For REET 2022: जुलाई माह में आयोजित होने वाली राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा लेवल 1 और लेवल 2 का आयोजन माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान के द्वारा किया जा रहा है। परीक्षा में अब कुछ ही दिनों का समय बचा है। ऐसे में यदि आप भी इस परीक्षा में सम्मिलित होने वाले हैं , तो आपके लिए यहां पर दी गई जानकारी महत्वपूर्ण होने वाली है यहां पर हम शिक्षण विधियां के अंतर्गत निदानात्मक एवं उपचारात्मक शिक्षण पर आधारित महत्वपूर्ण बहुविकल्पीय प्रश्न शेयर कर रहे हैं। जो कि परीक्षा में पूछे जा सकते हैं , अभ्यर्थियों को परीक्षा से पूर्व इन प्रश्नों का अध्ययन एक बार अवश्य कर लेना चाहिए।

राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए निदानात्मक और उपचारात्मक शिक्षण के महत्वपूर्ण प्रश्न—Diagnostic and Remedial Teaching Based Important Questions

Q. निदानात्मक परीक्षण के संदर्भ में सत्य कथन है।

A. सम्पूर्ण पाठ्यक्रम पर आधारित प्रश्न होते हैं।

B. क्षेत्र व्यापक होता है।

C. प्रश्नों के उत्तरों पर अंकन किया जाता है।

D. यह परीक्षण विश्लेषणात्मक होता है।

Ans:- (D)

Q. उपचारात्मक कार्य की सफलता निर्भर करती है?

A. शिक्षक छात्रों की त्रुटियों के सम्बन्ध में कितने विस्तार से जानकारी रखता है।

B. विद्यार्थी अपनी कठिनाईयों को किस प्रकार से प्रस्तुत करता है।

C. विद्यार्थी अपनी कठिनाईयों का पता किस प्रकार से करता है।

D. विद्यार्थी शिक्षक से कितना जुड़ा हुआ है।

Ans:- (A)

Q. निदानात्मक परीक्षण के संदर्भ में असत्य कथन है।

A. निदानात्मक क्षेत्र पाठ्य विषयों तक सीमित होता है।

B. क्रिया विद्यार्थी विशेष के लिए होती है।

C. शिक्षक का ध्यान विद्यार्थी की क्रियाओं पर होता है ।

D. निदानात्मक परीक्षण विद्यालयी सीमाओं तक सीमित रहता है।

Ans:- (D)

Q. उपचारात्मक शिक्षण की व्यवस्था निम्नलिखित प्रकार से नहीं की जाती है।

A. ट्यूटोरियल शिक्षण

B. अनौपचारिक शिक्षण

C. कक्षा – शिक्षण

D. पर्यवेक्षण

Ans:- (D)

Q. निदानात्मक परीक्षण के बाद जरूरत पड़ती है?

A. स्वाध्याय की

B. उपचारात्मक शिक्षण की

C. कक्षा शिक्षण की

D. उपलब्धि परीक्षण की

Ans:- (B)

Q. उपचारात्मक शिक्षण है ।

A. सीखने संबंधी कठिनाइयों का ज्ञान प्राप्त करना ।

B. अध्ययन संबंधी कठिनाइयों को दूर करते हुए 1 शिक्षण किया जाना ।

C. बालकों की वर्तनी संबंधी कठिनाइयों का पता लगाना ।

D. शिक्षक की विषय संबंधी कठिनाईयों का पता लगाना ।

Ans:- (B)

Q. उपचारात्मक शिक्षण द्वारा –

A. अध्यापकों की कमियों का उपचार करते हैं।

 B. छात्रों के घायल होने पर उपचार करते हैं।

 C. छात्रों की कमजोरियों का निदान करने हेतु शिक्षण करते हैं।

D. उपर्युक्त सभी

Ans:- (C)

Q. उपचारात्मक शिक्षण की की सफलता मुख्यतः निर्भर करती है।

A. बच्चों की सामाजिक- सांस्कृतिक पृष्ठभूमि पर ।

B. बच्चों की भाषागत त्रुटियों की सूची बनाने पर ।

C. समस्याओं की पहचान पर ।

D. उपर्युक्त सभी

Ans:- (C)

Q. उपचारात्मक शिक्षण की प्रक्रिया (कब तक चलती रहनी चाहिए?

A. जब तक छात्रों का पिछड़ापन दूर न हो ।

B. जब तक छात्र रुचि न ले ।

C. जब तक विद्यालय में समय मिले ।

D. जब तक अन्य अध्यापक कक्षा में न आए।

Ans:- ( A)

Q. अध्यापक उपचार कार्य करता है?

A. निदानात्मक परीक्षण से

B. त्रुटियाँ ध्यान में रखकर शिक्षण करने से

C. सामान्य शिक्षण से

D. उपर्युक्त सभी से

Ans:- (B)

Read More:-

REET 2022: ‘शिक्षा मनोविज्ञान’ से जुड़े कुछ ऐसे महत्वपूर्ण प्रश्न जो कि राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण अभी पढ़े!

REET 2022: शिक्षण विधियों के अंतर्गत ‘ब्लूम टैक्सनॉमी’ से संबंधित परीक्षा में पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण प्रश्न, अभी पढ़ें

रीट परीक्षा से जुड़ी सभी नवीनतम अपडेट तथा Notes प्राप्त करने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल के सदस्य जरूर बने जॉइन लिंक नीचे दी गई है.

1 thought on “REET 2022: ‘निदानात्मक एवं उपचारात्मक’ शिक्षण पर आधारित ऐसे प्रश्न जो कि राजस्थान रीट में पूछे जा सकते हैं, अभी पढ़े”

Leave a Comment