Write a Letter to your Friend in Sanskrit

Letter Write to your Friend in Sanskrit Language

नमस्कार! दोस्तों आज आर्टिकल के माध्यम से हम आपके साथ संस्कृत में पत्र लेखन (Write a Letter to your Friend in Sanskrit) से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां शेयर करने जा रहे हैं क्योंकि परीक्षा में पत्र लेखन से संबंधित एक प्रश्न अवश्य ही पूछा जाता है और यदि आप इसे अच्छी तरह से तैयार कर ले तो आप परीक्षा में अच्छे अंक अर्जित कर सकते हैं

 पत्र लेखन-

 पत्र अपने विचारों भावों को एक – दूसरे के साथ सांझा करने के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण माध्यम है हमारे जीवन में ऐसे अनेक ऐसे अवसर होते हैं जब पत्र लिखने के लिए  हम  तत्पर हो जाते हैं पत्र की एक अपनी विशेषता होती है इन के माध्यम से हम अपने भावों को प्रत्यक्ष रूप से प्रदर्शित कर सकते हैं

दूर रहने वाले अपने सबन्धियों अथवा मित्रों की कुशलता जानने के लिए तथा अपनी कुशलता का समाचार देने के लिए पत्र एक साधन है। इसके अतिरिक्त अन्य कार्यालयी कार्यों के लिए भी पत्र लिखे जाते है।

 पत्र की इन सभी उपयोगिताओं को देखते हुए पत्रों को मुख्यतः दो वर्गों में विभाजित किया जाता है जो निम्नलिखित हैं-

1.अनौपचारिक पत्र-अनौपचारिक पत्र अपने परिवार, सम्बन्धी व मित्र किसी भी व्यक्ति (जो परिचित है) को लिखा जाता है।

2.औपचारिक पत्र- औपचारिक पत्र किसी भी कार्यालय में या संस्थान से जुड़े को लिखा जाता है।

 

संस्कृत में मित्र के लिए पत्र | Letter to Friend in Sanskrit Language

                                                                                                                                   जबलपुरम्

                                                                                                                           दिनाँक – 12-08 -2021

 

प्रियमित्र रमेश

 नमस्ते!

अत्र अहम् कुशलः भवतः कुशलता कामये। अहम् मातपितृभ्यां सह अस्मिन ग्रीष्मवकाशसमये भृमणार्थं हिमाचलप्रदेशं गमिष्यामि। भवान् अपि अस्माभिः सह तत्र चलतु इति मम प्रबलेच्छा अस्ति। वयं सर्वे तन्न मिलित्वा आनन्दानुभवं करिष्यामः। महीयः अयं प्रस्तावः भवते रोचते चेत् ज्ञापयतु |

परिवारे पूज्येभ्यो सवेभ्यो जनेभ्यो मम साहर प्रणामः निवेहनीयः। पत्रस्योत्तरं शीघ्रमेव प्रेषणीयम्।

               .                                                                                                                     भवतः मित्रं

                                                                                                                                        दीपक

इन्हें भी पढ़ें :-

Can Read Many More Sanskrit Essay
Essay on Science in Sanskrit for Class 10     Click Here
Diwali Essay in Sanskrit for Class 10              Click Here
Essay on Sadachar in Sanskrit for Class 10  Click Here 
Essay on the Sanskrit Language in Sanskrit       Click Here
Kalidas Nibandh in Sanskrit for Class 10     Click Here
Essay on Holi in Sanskrit for Class 10th       Click Here
उद्यानम् का निबंध संस्कृत भाषा में  Click Here
10 Sentence on Raksha Bandhan in Sanskrit  Click Here
Essay on Chhattisgarh in Sanskrit  Click Here

Leave a Comment