MP Samvida Varg 3 EVS Pedagogy Practice Set: ‘पर्यावरण पेडगॉजी’ के इन 15 सवालों को सॉल्व कर चेक करें अपना स्कोर

EVS Pedagogy Practice Set For MP Samvida Varg 3: मध्य प्रदेश प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड के द्वारा आयोजित मध्य प्रदेश प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन 5 मार्च 2022 से 26 मार्च 2022 तक ऑनलाइन मोड में किया जाएगा इस परीक्षा के लिए 11 लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है । परीक्षा का आयोजन दो पारियों में किया जाएगा I 

परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को चाहिए कि वह परीक्षा के अंतिम दिनों में रिवीजन के साथ-साथ प्रैक्टिस सेट का अभ्यास भी करें।जिससे कि परीक्षा में अच्छे अंकों के साथ सफलता प्राप्त की जा सके Iइस आर्टिकल में हम पर्यावरण पेडगॉजी से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न का अध्ययन करेंगे जो कि आगामी मध्य प्रदेश संविदा शाला शिक्षक वर्ग 3 परीक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण है परीक्षा से पूर्व इन प्रश्नों का अध्ययन आपको परीक्षा में बेहतर परिणाम दिला सकता है I

परीक्षा में पूछे जाएंगे पर्यावरण पेडागोजी के कुछ ऐसे सवाल — MP Samvida Varg 3 EVS Pedagogy Practice Questions

Q1. पर्यावरण अध्ययन की कक्षा में अवधारणाओं को स्पष्ट करने के लिए कविताओं और कहानियों और कहानी कथन का प्रयोग करना 

(a) बच्चों में विद्यमान भाषिक एवं सांस्कृतिक विविधता को ध्यान में रखता है

(b) उचित दिशा में बच्चों की ऊर्जा को संकेन्द्रित करता है।

 (c) पाठ को आनन्ददायक और रोचक बनाने में मदद करता है

(d) स्थानीय एवं विश्व स्तर पर संसार की प्रकृति को और कल्पना करने की योग्यता का विकास करने में मदद करता है

Ans:- (d)

Q2. पर्यावरणीय समस्याओं पर नियन्त्रण के लिए क्या होना अनिवार्य है? 

(a) आम सहमति तथा जागरूकता

(b) मागदर्शन और समाधान

(c) विचार एवं जागरूकता

 (d) उत्तरदायित्व एवं जवाबदेयता

Ans:- (c)

Q3. दोपहर के भोजन अवकाश के बाद पर्यावरण अध्ययन पढ़ाते समय आप यह पाते हैं कि बच्चे पाठ में रुचि नहीं ले रहे हैं, ऐसी स्थिति में आप क्या करेंगे?

(a) बच्चों को बाहर मैदान में खेलने के लिए ले जाएँगे

 (b) बच्चों से कहेंगे कि वे डेस्क पर सिर रखकर आराम करें

(c) पाठ को रोचक बनाने के लिए बहुआयामी बुद्धि पर आधारित दृश्य-श्रव्य सामग्रियों का प्रयोग करेंगे

 (d) प्रकरण को तुरन्त बदल देंगे

Ans:- (c)

Q4. बच्चों को विभिन्न प्रकार के ईंधनों से परिचित कराने के लिए शिक्षक

 (a) कक्षा में कुछ ईंधनों के नमूने दिखा सकते हैं

(b) एक लघु फिल्म दिखाने के साथ खाना पकाने के लिए इस्तेमाल होने वाले

सम्भावित ईंधन के प्रकारों पर बच्चों के साथ चर्चा कर सकते हैं

(c) चार्ट पर ईंधनों के चित्र प्रदर्शित कर सकते हैं

(d) बच्चों से विभिन्न प्रकार के ईंधनों की सूची बनाने के लिए कह सकते हैं

Ans:- (b)

Q5. पर्यावरणीय समस्याओं पर नियन्त्रण के लिए क्या होना अनिवार्य है?

(a) आम सहमति तथा जागरूकता

 (b) मागदर्शन और समाधान

 (c) विचार एवं जागरूकता

 (d) उत्तरदायित्व एवं जवाबदेयता

Ans:- (b)

Q6. विद्यालय में घटित होने वाली दैनिक घटनाओं का विवरण तथा बालकों के व्यवहार परिवर्तन के मूल्यांकन के लिए किसका उपयोग होता है?

 (a) वर्कशीट

(b) वर्क बुक

(c) एनेक्डाटल (घटनावृत्त)

(d) पोर्टफोलियो

Ans:- (c)

Q7. पर्यावरण अध्ययन की कक्षा में सरल प्रयोग और निदर्शन किए जा सकते हैं?

 (a) बच्चों द्वारा पूछ गए प्रश्नों पर आधारित विचारों पर चर्चा करने, अवलोकनों को दर्ज करने तथा उनका विश्लेषण करने के लिए

(b) कक्षा में अनुशासन को सुनिश्चित करने हेतु बच्चों को नियन्त्रित करने के लिए

(C) बच्चों को स्वयं सीखने के योग्य बनाने और अवलोकन कौशलों को पैना करने

के लिए

(d) उच्च कक्षाओं में क्या किया जाता है उसका अनुकरण करने के लिए

Ans:- (c)

 Q8. बच्चों को विभिन्न प्रकार के ईंधन से परिचित कराने के लिए शिक्षक

(a) कक्षा में कुछ ईंधनों के नमूने दिखा सकता है

 (b) एक लघु फिल्म दिखाने के साथ खाना पकाने के लिए इस्तेमाल होने वाले सम्भावित ईंधन के प्रकारों पर बच्चों के साथ चर्चा कर सकता है।

 (c) चार्ट पर ईंधनों के चित्र प्रदर्शित कर सकता है

 (d) बच्चों से विभिन्न प्रकार के ईंधनों की सूची बनाने के लिए कह सकता है

Ans:- (b)

Q9. पर्यावरण अध्ययन की कक्षा में अवधारणाओं को स्पष्ट करने के लिए कविताओं और कहानी कथन का प्रयोग करना

 (a) बच्चों में विद्यमान भाषिक एवं सांस्कृतिक विविधता को ध्यान में रखता है

(b) उचित दिशा में बच्चों की ऊर्जा को संकेन्द्रित करता है

(c) पाठ को आनन्ददायक और रोचक बनाने में मदद करता है

(d) स्थानीय एवं विश्व स्तर पर संसार की प्रकृति को खोजने और कल्पना करने की

योग्यता का विकास करने में मदद करता है

Ans:- (d)

Q10. खाद्य श्रृंखला की संकल्पना को पढ़ाने में विद्यार्थियों की अधिकतम भागीदारिता के लिए निम्नलिखित में से कौन-सी शिक्षण व्यूह रचना सबसे प्रभावी होगी ?

(a) विद्यार्थियों को इण्टरनेट से सम्बन्धित जानकारी एकत्रित करने के लिए कहना

(b) श्यामपट्ट पर लिखी विभिन्न खाद्य-श्रृंखलाओ के सभी उदाहरणों को देखकर लिखने के लिए विद्यार्थियों से कहना 

(C) जीवों के प्ले-कार्ड्स बनाना और विद्यार्थियों के समूह को विभिन्न खाद्य-शृंखलाओं को सोचते हुए उन्हें व्यवस्थित करने के लिए कहना

(d) विभिन्न आवासों में चलने वाली सम्भावित खाद्य-शृंखलाओं की खोज करने के लिए विद्यार्थियों को कहना

Ans:- (c)

Q11. पर्यावरण अध्ययन के विषय में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन गलत है? 

(a) सामाजिक और भौतिक पर्यावरणों द्वारा की गई पारस्परिक क्रिया का अध्ययन ही पर्यावरण अध्ययन है

 (b) पर्यावरण अध्ययन शिक्षा के आधुनिक दृष्टिकोण के अनुरूप उपयुक्त नहीं है 

(c) पर्यावरण अध्ययन, एक परम्परागत विषय न होकर एक स्वतन्त्र विषय है।

 (d) पर्यावरण अध्ययन का सम्बन्ध प्रत्यक्ष रूप से मानवीय सम्बन्धों से है

Ans:- (b)

Q12. पर्यावरण अध्ययन का सम्बन्ध निम्नलिखित में से किस विषय से है?

 (a) भाषा

(b) विज्ञान 

(c) सामाजिक विज्ञान

(d) ये सभी

Ans:- (d)

Q13. एन.सी.ई.आर.टी. की पाठ्य पुस्तकों में पर्यावरण अध्ययन को उच्च प्राथमिकता और स्थान दिया गया है। 

(a) अधिक संख्या में अभ्यास प्रश्नों को शामिल करने के लिए।

(b) विषय की आधारभूत संकल्पनाओं की व्याख्या करने के लिए। 

(c) चिन्तन और विस्मय के लिए शिक्षार्थियों को अवसर उपलब्ध कराने के लिए

(d) तकनीकी शब्दावली की सटीक परिभाषाएँ उपलब्ध कराने के लिए

Ans:- (c)

Q14. प्राथमिक स्तर पर पर्यावरण अध्ययन के शिक्षण में कहानियों और कविताओं का प्रभावी ढंग से उपयोग किया जा सकता है। पर्यावरण अध्ययन में इनके उपयोग का मुख्य उद्देश्य है।

(a) कक्षा की विविधता की पूर्ति 

(b) सीखने के लिए सन्दर्भगत वातावरण प्रदान करना

(c) पाठों को आनन्ददायक बनाना

 (d) भाषिक कौशलों को बढ़ावा देना

Ans:- (b)

Q15. एकीकृत उपागम के अन्तर्गत पाठ्यक्रम निम्न में से किस सिद्धान्त पर ‘आधारित होना चाहिए?

 A. जीवन केन्द्रित सिद्धान्त पर

 B. व्यावहारिक पक्ष के सिद्धान्त पर 

C. विषयों की समन्वित इकाई के सिद्धान्त पर 

(a) केवल A

(b) केवल B

(c) केवल C

(d) ये सभी

Ans:- (d)

Q16. पर्यावरण अध्ययन की पाठ्य-पुस्तक में प्रयुक्त भाषाएँ 

(a) परिभाषाओं पर बल देते हुए औपचारिक बनाई जानी चाहिए।

(b) तकनीकी और औपचारिक होनी चाहिए

(c) बच्चे की दिन-प्रतिदिन की भाषा से सम्बद्ध होनी चाहिए

(d) रूखी और बच्चों के द्वारा समझने में कठिन होनी चाहिए।

इस प्रश्न का उत्तर नीचे कमेंट बॉक्स में बताएं

ये भी पढे:-

MP Samvida Varg 3 Sanskrit Pedagogy: MPTET परीक्षा में पूछे जाएंगे ‘संस्कृत पेडगॉजी’ से संबंधित ऐसे प्रश्न, इन्हें जरूर पढ़ ले

MP Samvida Varg 3 Practice Set 1: बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र से संबंधित 15 महत्वपूर्ण सवाल

यहा हमने MPTET 2022 परीक्षा के लिए EVS Pedagogy Practice Set For MP Samvida Varg 3 शेअर किए है जो परीक्षा में बार-बार पूछे जाते हैं अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं और MPTET सहित अन्य TET एग्जाम के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल के सदस्य जरूर बने, लिंक नीचे दी गई है।

Join us on Telegram Click Here (MPTET Special)
Follow us on Twitter Click Here

5 thoughts on “MP Samvida Varg 3 EVS Pedagogy Practice Set: ‘पर्यावरण पेडगॉजी’ के इन 15 सवालों को सॉल्व कर चेक करें अपना स्कोर”

Leave a Comment